Makar Sankranti Essay in Hindi मकर संक्रांति पर निबंध

हमारे देश में बहुत से त्यौहार मनाये जाते हैं जिनमे से एक है मकर संक्रांति भी है इस पोस्ट में हम आपको मकर संक्रांति क्यों मानते है makar sankranti kyu manaya jata hai मकर संक्रांति कब मानते है और भी बहोत से सवालो के जबाब देंगे अगर आप मकर संक्रांति पर निबंध या फिर मकर संक्रांति के बारे में makar sankranti ke bare mein ढूंढ रहे है तो आप बिलकुल सही जगह आये है क्योकि हम मकर संक्रांति त्यौहार के बारे में सब कुछ बताएँगे तो चलिए शुरू करते है हमारा uttarayan essay और मकर संक्रांति निबंध हिंदी में जो की आपको इस त्यौहार को जानने में मदद करेगा

मकर संक्रांति पर निबंध

मकर सक्रांति हिंदुओं का सबसे पहला त्यौहार माना जाता है मकर सक्रांति का त्यौहार 14 जनवरी को मनाया जाता है इस दिन सूर्य दक्षिण दिशा से उत्तर दिशा की और मकर रेखा में प्रवेश करता है कहा जाता है इस त्यौहार का हिन्दू लोगो में अपना महत्त्व है क्योकि हिंदुओं के त्यौहार की शुरुआत मकर सक्रांति के दिन से ही होती है इसे लोग अलग-अलग नाम से भी जानते हैं कोई इसको उत्तरायण ( uttarayan ) बोलता है कोई उसे खिचड़ी भी बोलता है कोई इसे लोहरी भी बोलता है

मकर संक्रांति क्यों मनाया जाता है Makar Sankranti Kyu Manaya Jata Hai

हमारे देश में सभी त्योहारों महत्व है मकर संक्रांति भी उनमे से एक है मकर संक्रांति की कई मानयता मानी जाती है मकर संक्रांति में गंगा जैसी पवित्र नदी में स्नान करना भी एक रिवाज है कहा जाता है इस दिन गंगा जी में स्नान करने से आत्मा शुद्ध होती है और जीवन में सभी बाधा भी दूर हो जाती है मकर संक्रांति के त्यौहार से दिन बड़े और रेट छोटी होना शुरू हो जाती है

मकर संक्रांति में दान पुण्य का भी महत्त्व माना जाता है इस दिन सूर्योदय से पहले स्नान करके कम्बल, ऊनी कपडे, तिल, गुड़ से बने व्यंजन और खिचड़ी दान करने पर १० हजार गोदान का फल प्राप्त होता है और नि देव की कृपा भी मिलती है जिससे सभी रुके काम पुरे होते है और शरीर स्वस्थ रहता है

मकर संक्रांति पर निबंध 10 लाइन

  1. मकर संक्रांति त्योहारों में से एक प्रमुख त्योहार है
  2. मकर सक्रांति का त्यौहार 14 जनवरी को मनाया जाता है
  3. मकर संक्रांति को उत्तरायण ( uttarayan ) और खिचड़ी का त्यौहार से भी जानते है
  4. मकर संक्रांति के त्यौहार में पतंग बाजी भी की जाती है
  5. मकर संक्रांति में गंगा जैसी पवित्र नदी में स्नान करना भी एक रिवाज है
  6. मकर संक्रांति में दान पुण्य का भी महत्त्व माना जाता है
  7. इस दिन गुड़ से बने व्यंजन बनाये जाते है
  8. मकर संक्रांति के त्यौहार से दिन बड़े और रेट छोटी होना शुरू हो जाती है
  9. इस दिन सूर्य दक्षिण दिशा से उत्तर दिशा की और मकर रेखा में प्रवेश करता है
  10. इस त्योहार में लोग अपने परिवार और मित्रों से मिलकर खुशी मनाते हैं।

मकर संक्रांति कब मनाया जाता है

मकर सक्रांति का त्यौहार 14 जनवरी को मनाया जाता है

मकर संक्रांति का दूसरा नाम क्या है?

मकर संक्रान्ति को उत्तरायण नाम से भी जाना जाता हैं।

मकर संक्रांति के दिन क्या क्या खाते हैं?

मकर संक्रांति को गुड़ और तिल से बने व्यंजन और खिचड़ी खाई जाने की प्रथा है

मकर संक्रांति पर कौन सा दान करना चाहिए?

मकर संक्रांति को कम्बल, ऊनी कपड़े, तिल, गुड़ से बने व्यंजन और खिचड़ी दान करी जाती है

Leave a Comment

4 × 2 =